डिवीजन की सूची

क्र.सं. डिवीजन का नाम
1 आगरा
2 कानपुर
3 मेरठ
4 लखनऊ
5 प्रयागराज
6 वाराणसी
7 गोरखपुर
8 गोण्डा

आगणन

भवनों के आगणन उ0 प्र0 लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्धारित दरों पर गठित किया जाता है। उक्त आगणन में निगम के प्रशासनिक व्यय हेतु 12.5 प्रतिशत सेन्टेज का प्राविधान रखा जाता है ।

कार्यविधि

  • निगम द्वारा विभागीय निर्माण कार्य पद्धति (E-Tender) से भवनों का निर्माण कराया जाता है।
  • निर्माण कार्य की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से भवन निर्माण सामग्री के क्रय आदेश तथा श्रमिक ठेकेदारों द्वारा लेबर कार्य कराया जाता है।
  • यही कार्यप्रणाली उ0 प्र0 राजकीय निर्माण निगम में प्रचलित है।
  • निर्माण कार्य के पर्यवेक्षण हेतु निगम मुख्यालय पर महाप्रबन् (परियोजना प्रबन्ध) एवं प्रबन्धक (परियोजना) तैनात है।
  • इकाई स्तर पर अधिशासी अभियन्ता, सहायक अभियन्ता एवं अवर अभियन्ता तैनात हैं।
  • निर्माण कार्यो की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से पी0आर0डव्लू0 के माध्यम से सिविल डिप्लोमा होल्डर भी प्रत्येक इकाई में रखे गये हैं।